25/04/2024 7:31 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

एसजेवीएन ने राजस्थान में 100 मेगावाट सौर परियोजना के लिए प्राप्त किया एलओए

[adsforwp id="60"]

अर्की आज तक शिमला (ब्यूरो):
एसजेवीएनएल ने राजस्थान ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड से 2.62 रुपए प्रति यूनिट के टैरिफ पर 100 मेगावाट सौर ऊर्जा परियोजना के लिए लेटर ऑफ अवार्ड प्राप्त किया है। एसजेवीएनएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंदलाल शर्मा ने कहा कि यह परियोजना एसजेवीएन की पूर्ण स्वामित्व वाली अधीनस्थ कंपनी एसजीईएल के माध्यम से बिल्ड ओन एंड ऑपरेट के आधार पर हासिल की गई थी। यह परियोजना ईपीसी अनुबंध के माध्यम से राजस्थान में 600 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत पर विकसित की जाएगी। यह परियोजना आरयूवीएनएल और एसजीईएल के मध्य 25 वर्षों के लिए विद्युत खरीद करार पर हस्ताक्षर करने की तिथि से 18 माह की अवधि में कमीशन की जाएगी।
नन्द लाल शर्मा ने कहा कि इस परियोजना से पहले वर्ष में 252 मिलियन और 25 वर्षों की अवधि में 5866 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन होने की संभावना है। इस परियोजना की कमीशनिंग से 287434 टन कार्बन उत्सर्जन में कमी होने की संभावना है।एसजेवीएन, राज्य में 1000 मेगावाट की बीकानेर सौर परियोजना भी विकसित कर रहा है। भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 3 जनवरी, 2023 को इस परियोजना की आधारशिला रखी। इसके अतिरिक्त, पूर्व में एसजेवीएन ने राज्य में 10 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं/पार्कों के विकासार्थ राजस्थान सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। वर्तमान में, एसजेवीएन का परियोजना पोर्टफोलियो 58144 मेगावाट है और कंपनी अपने नवीकरणीय ऊर्जा पोर्टफोलियो का विस्तार भारत सरकार के ग्रीन एनर्जी ट्रांजिशन के लक्ष्य के अनुरूप करने के लिए प्रतिबद्ध है। एसजेवीएन वर्ष 2026 तक 12,000 मेगावाट के अपने मिशन और वर्ष 2030 तक 25,000 मेगावाट एवं वर्ष 2040 तक 50,000 मेगावाट की स्थापित क्षमता के साझा लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

एसजेवीएनएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंदलाल शर्मा

Leave a Reply