21/05/2024 12:36 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

अम्बुजा द्वारा स्थानीय कर्मचारियों के साथ तानाशाही रवैया नही मंजूर !राजेन्द्र ठाकुर

[adsforwp id="60"]

अर्की आजतक ब्यूरो :- अम्बुजा कम्पनी द्वारा स्थानीय कर्मचारियों के साथ किया जाने वाला तानाशाही रवैया क्षेत्रवासियों को मंजूर नहीं है। हम क्षेत्रवासियों के साथ मिलकर कम्पनी के इस तानाशाही रवैये के खिलाफ नियमानुसार आंदोलन के तैयार है, यह कहना है विकास समति अर्की के संयोजक राजेन्द्र ठाकुर का।
एक पत्रकार वार्ता के दौरान उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जिस प्रकार आज अम्बुजा सीमेंट कम्पनी व प्रबंधन द्वारा स्थानीय कर्मचारियों को तानाशाही आदेश दिया गया है कि वे या तो तीन माह के भीतर नौकरी छोड़ें या कम्पनी के अंदर लगे उनके ट्रकों को बाहर करें। जबकि यह रीत अम्बुजा कम्पनी प्रबंधन द्वारा ही चलाई गई है। पूर्व में कम्पनी द्वारा गुजरात से आये कर्मचारियों के नाम पर लगभग 90 टिप्पर चलाये थे जो कि एक आंदोलन के पश्चात स्थानीय लोगों द्वारा बन्द करवाये गए थे। परन्तु आज ऐसा लगता है कि अम्बुजा प्रबंधन पुनः उसी रास्ते पर चल पड़ा है। उन्होंने कहा कि कम्पनी प्रबंधन से जोर जबर्दस्ती लड़ाई नही लड़ी ज सकती क्योंकि कम्पनी धनबल और राजनीति तथा प्रशासनिक बल के दम पर कुछ भी कर सकती है, इसलिए इसके खिलाफ लड़ाई में शांतिपूर्वक नियम कानून के आधार पर आंदोलन लड़ना होगा। इसके लिए यदि उन्हें किसी भी राजनीतिक दल के नेता के साथ कंधा मिलाकर आंदोलन करना पड़े तो वे तैयार है। क्योंकि इस आंदोलन को राजनीति से ऊपर उठकर देखा जाना जरूरी है। यदि आज क्षेत्र के सभी नेता एक होकर इस आंदोलन में खड़े नही हुए तो अम्बुजा प्रबंधन अपनी मनमानी करने पर कामयाब हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि जिस प्रकार का तानाशाही आदेश कम्पनी ने दिया है ,वह तो मात्र अर्की की जनता व राजनीतिक दलों का उनके आदेश के खिलाफ की जाने वाली कार्यवाही को देखने व समझने के लिए एक डोज है ,यदि इस समय अर्की क्षेत्र की जनता व सभी दलों के नेता इस आदेश के खिलाफ नहीं हुए तो आने वाले समय मे कम्पनी द्वारा और भी सख्त आदेश जारी किए जा सकते जिससे न केवल ट्रांसपोर्टर ही बाधित होंगे बल्कि छोटे छोटे व्यवसायियों की आजीविका पर भी असर पड़ेगा। इसलिए आवश्यक है कि शीघ्र ही अर्की के सभी राजनेता व जनता एक हों ताकि कम्पनी प्रबंधन के खिलाफ नकेल कसी जा सके। इस दौरान बीडीसी अध्यक्षा सोमा कौंडल ने कम्पनी को चेतावनी देते हुए कहा कि कम्पनी किसी एक टेबल पर बैठकर शांतिपूर्ण इस समस्या का हल निकालें। अन्यथा कहीं ऐसा न हों कि अर्की क्षेत्र की समस्त मातृशक्ति पंचायत समिति के साथ मिलकर आंदोलनरत हो जाये।
इसके पश्चात प्रधान परिषद के अध्यक्ष रूपसिंह ठाकुर ने कहा कि वह इस आंदोलन में सभी पंचायतो के प्रतिनिधियों को साथ लेकर कम्पनी प्रबंधन के खिलाफ लामबंद होंगे। इस अवसर पर नगर पंचायत अर्की के अध्यक्ष हेमेंद्र गुप्ता ने भी कर्मचारियों का सहयोग देने का आश्वासन दिया।
इस असवर पर कुनिहार पंचायत के प्रधान राकेश ठाकुर , जगदीश अत्री, गौरव ठाकुर, देवेंद्र राज,सुनील कुमार, सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Advertisement