17/06/2024 3:25 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

अर्की में 108 एम्बुलेंस में कार्यरत ईएमटी पराग व अमित ने प्रसूता महिला की आधे रास्ते एम्बुलेस में ही प्रसव करवा कर जच्चा बच्चा की जिंदगी बचाई।

[adsforwp id="60"]

अर्की ब्यूरो

सिविल अस्पताल अर्की में 108 एम्बुलेंस में कार्यरत ईएमटी पराग व पायलेट अमित ने एक बार फिर अर्की अस्पताल से केएनएच शिमला के लिए रेफर की गई प्रसूता महिला की आधे रास्ते मे एम्बुलेस में ही प्रसव करवा कर जच्चा बच्चा की जिंदगी बचाई। प्रसूता महिला पुनम  निवासी ठेरा  (पारनु) ने बताया कि वह अपनी पत्नी को प्रसव पीड़ा होने पर अर्की अस्पताल लाये परन्तु अर्धरात्रि के समय उन्हें कहा गया कि अर्की में प्रसव करवाना मुश्किल है अतः वह अपनी पीड़ा से पीड़ित पत्नी को तुरन्त केएनएच अस्पताल शिमला ले जाएं। जिस पर वह अपनी पत्नी को 108 एम्बुलेंस में लेकर शिमला चल पड़े। परन्तु 16 मील नामक स्थान पर उनकी पत्नी की पीड़ा के कारण हालत खराब होने लगी ।जिस पर उन्होंने 108 एम्बुलेंस में कार्यरत कर्मचारी ईएमटी पराग मशविरा कर वहीँ एम्बुलेंस में प्रसव करवाने की कोशिश का निर्णय लिया गया। तथा इस दौरान प्रातः 2 बजकर 28 मिनट पर महिला का ईएमटी पराग द्वारा सफलता पूर्वक प्रसव करवा दिया गया। प्रसव के पश्चात महिला को पुनः अर्की अस्पताल लाया गया। इस बारे में ईएमटी पराग ने बताया कि जच्चा बच्चा दोनो कुशल तथा स्वास्थ्य लाभ उठा रही है व महिला ने बेटी को जन्म दिया है।

Leave a Reply