21/05/2024 12:40 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

अधिकारी हो तो ऐसे , एसडीएम अर्की केशव राम कोली अपने ड्राइवर की सेवानिवृत्त के मौके पर खुद गाड़ी ड्राइव कर घर गए छोड़ने।

[adsforwp id="60"]

एसडीएम अर्की केशव राम कोली ने अपने ड्राइवर की विदाई को एक यादगार के पल में बदल दी।  एसडीएम साहब ड्राइवर बनकर अपने कार्यालय से  पंचायत जलाणा के गांव सलाहघाटी में उनके घर तक छोड़ने गए। इंद्रजीत सिंह ने राजस्व विभाग में बतौर चालक 33 वर्षो तक अपनी सेवाएं दी। उनकी नौकरी वर्ष 1989 में राजस्व विभाग सोलन में लगी थी । उसके बाद वर्ष 1990 में उनका तबादला अर्की एसडीएम कार्यालय हो गया था । वह काम के प्रति कर्मठ व ईमानदार छवि के माने जाते रहे है । इन्द्रजीत सिंह ने कहा कि आज वह एसडीएम कार्यालय से ड्राइवर के पद से रिटायर हो रहे है । आज उन्हें एसडीएम केशव राम द्वारा उनका सारथी बनकर घर छोड़ना उनके लिए एक सम्मान जनक विदाई है। इसके लिए वह उनका आभार व धन्यवाद व्यक्त करते है । एसडीएम अर्की केशवराम कहा ने इंद्रजीत ने उनके साथ लगभग छः महीने अपनी सेवाएं दी । यह अपने काम के प्रति समर्पित होने के साथ एक ईमानदार थे । उन्होंने कहा कि वह उनके उज्जवल भविष्य के साथ स्वास्थ्य व दीर्घायु की कामना की ।

Leave a Reply

Advertisement