28/05/2024 3:50 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

अडानी पुलिस थाने और कम्पनी की फाइलों का रिकार्ड देख लें दाड़ला के ऑपरेटर आमने सामने और गुरिल्ला लड़ाई में पीछे नही हटते है। रामकृष्ण

[adsforwp id="60"]
दाड़लाघाट,16 दिसम्बर अर्की आज तक (ब्यूरो):
ट्रक ऑपरेटरों के कारण कंपनी घाटे की बात की जा रही है जो गलत है।यह बात दाड़लाघाट में 8 यूनियनों दी जिला सोलन ट्रांसपोर्ट ट्रक ऑपरेटर कोऑपरेटिव सोसाइटी  ,अंबुजा दाड़ला कशलोग मांगू परिवहन सभा (एडीकेएम) ,बाघल लैण्ड लूजर परिवहन सहकारी सभा,गोल्डन लैण्डलूजर,कुरगन लैण्डलूजर,दी जिला सोलन भूतपूर्व सैनिक परिवहन को-ऑपरेटिव सोसाइटी,पूर्व सैनिक हमीरपुर व माइनिंग लैण्डलूजर की सयुंक्त बैठक के दौरान उपस्थित सभी यूनियन के पदाधिकारियों कही।उन्होंने कहा कि जब पहले स्ट्राइक हुई थी तो सभी किराये उपायुक्त ने तय किये थे व सभी सराकरी गाइडलाइन के हिसाब से ट्क ऑपरेटर कार्य कर रहे है।उन्होंने कहा कि दाड़लाघाट में ही दुकान पर पहुंच कर सीमेंट मंहगा मिलता है व ट्रक का भाडा न्यूनतम है।यह तो सरकार प्रशासन व कंपनी को देखना चाहिए। गौर रहे कि अर्की के दाड़लाघाट स्थित सीमेंट उद्योग को आगामी आदेश तक बंद रखने के आदेश के बाद हजारो कर्मचारियों के भविष्य पर तलवार लटक गई है।इन कर्मचारियों को अपने भविष्य की चिंता सताने लगी है।जबकि दाड़लाघाट की परिवहन सभाओं के ऑपरेटर ने बैठक में आगामी रणनीति पर विचार करने के बाद अदानी समूह के फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई।शुक्रवार को दाड़लाघाट स्थित सीमेंट उद्योग के समक्ष 8 यूनियनों के सैंकड़ो ट्रक ऑपरेटर एकत्रित हुए व आगामी रणनीति तैयार की  गई।उन्होंने कंपनी बन्द होना राजनीति से प्रेरित बताया।यूनियनों के पदाधिकारियों ने बताया कि रोजगार को बचाने के लिए सभी को एकजुट होकर कार्य करना होगा।उन्होंने कहा कि यह पहली बार हुआ है कि कंपनी ने अपने गेट पर ताले लगा दिए।इससे पूर्व ट्रक ऑपरेटरों की मांगों को लेकर ही कंपनी बन्द होती थी।उन्होंने कहा कि कंपनी द्वारा ट्रक ऑपरेटरों से प्रति किलोमीटर 6 रुपए प्रति टन के हिसाब से माला भाड़ा ढोने के लिए बाध्य कर रहे है जो सरासर तानाशाही फरमान है।उन्होंने कहा कि वह पहले की तरह प्रति किलोमीटर 10.58 रुपए प्रति टन के हिसाब से ही माल ढुलाई करेंगे या इससे अधिक रेट को बढ़ाने के लिए कंपनी को मजबूर करेंगे।इसके अलावा कंपनी से जो 2014 से ट्रक ऑपरेटरों की हाइक शेष रहती है उसे भी लेकर रहेंगे।उन्होंने कहा कि कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों सहित हजारो ट्रकों के थमने से ट्रक से चलने वाले ढाबे मैकेनिको,पेट्रोल पंप,टायर पंचर के व्यवसाय पर भी इसका बुरा असर पड़ेगा।बैठक के बाद कर्मचारियों ने यूनियनो के साथ कंपनी प्रबंधन के खिलाफ कंपनी के मुख्य द्वार तक जमकर विरोध प्रदर्शन किया व जमकर नारेबाजी की।यूनियन के पदाधिकारियों ने बताया कि ट्रक ऑपरेटरों के कारण कंपनी घाटे की बात की जा रही है जो गलत है।उन्होंने कहा कि जब पहले स्ट्राइक हुई थी तो सभी किराये उपायुक्त ने तय किये थे व सभी सराकरी गाइडलाइन के हिसाब से ट्क ऑपरेटर कार्य कर रहे है।उन्होंने कहा कि दाडलाघाट में ही दुकान पर पहुंच कर सीमेंट मंहगा मिलता है व ट्रक का भाडा न्यूनतम है।यह तो सरकार प्रशासन व कंपनी को देखना चाहिए।बीएलएल के पूर्व अध्यक्ष राम कृष्ण शर्मा ने कहा कि कंपनी ने बिना नोटिस के प्लांट बन्द किया है इसलिए सरकार को कंपनी पर कार्यवाही करनी चाहिए। कंपनी को चेताते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस थाने और सरकारी फ़ाइलों का रिकार्ड देख लें दाड़लाघाट के ऑपरेटर आमने सामने और गुरिल्ला लड़ाई में पीछे नही है इलाका पहाड़ी जरूर है पर एक गाल पर चांटा पड़ने पर दूसरा आगे नही करते है।वहीं सभी पक्षों के साथ उपायुक्त सोलन कृतिका कुल्हारी कल 11 बजे सोलन में ट्रक ऑपरेटरों व कम्पनी प्रबंधन के साथ बैठक करेगी व इस मसले को सुलझाने का प्रयास करेंगें।साथ ही इस बैठक में प्रत्येक सभा से चार चार सदस्य सोलन उपायुक्त कार्यालय में भाग लेंगे।इस मौके पर एसडीटीओ के प्रधान जयदेव कौंडल,वरिष्ठ उप प्रधान नरेश गुप्ता,बाघल लैंड लूजर के पूर्व प्रधान रामकृष्ण शर्मा,वेद प्रकाश शुक्ला,बालक राम शर्मा,परसराम,नीलम भारद्वाज,संजय ठाकुर,राम कृष्ण बंसल,राकेश वर्मा,रमेश ठाकुर,जगदीश शर्मा,एनके भारद्वाज, राज कुमार,सुरेश शर्मा,रोशन ठाकुर,राकेश गौतम सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply