28/05/2024 11:02 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

दाड़लाघाट:- कम्पनी ने सैलरी नही दी तो करेगें आंदोलन। श्रमिक

[adsforwp id="60"]

दाड़लाघाट,24 दिसम्बर अर्की आज तक(ब्यूरो):
दाड़लाघाट में अंबुजा सीमेंट कम्पनी के रौड़ी व सुल्ली प्लांट में पिछले दस दिनों से उत्पादन बंद है।जिस वजह से प्लांट में किसी भी तरह की कोई गतिविधियां नही हो रही है।लेकिन कम्पनी के एक प्रोजेक्ट डब्लूएचआरएस में कार्य चल रहा था,19 दिसम्बर तक श्रमिक कार्य कर रहे थे,लेकिन 20 दिसम्बर को काम में लगे श्रमिकों को काम पर आने पर रोक लगा दी।जबकि 20 दिसम्बर से ही किसी दूसरे ठेकेदार को यह कार्य सौप दिया गया।जिन मजदूरों ने पहले इस प्रोजेक्ट में कार्य किया था उन्हें काम पर आने की रोक लगाकर बाहर कर दिया।इसके अलावा इन कामगारों को अंबुजा के सुरक्षा कर्मचारियों ने मुख्य द्वार से प्रवेश बन्द कर दिया।मजदूरों का साफ कहना है कि हमारी नवम्बर व दिसम्बर महा के जो दिन कार्य मे लगे है उसका वेतन दिया जाए। जिससे लेकर मजदूरों ने अम्बुजा कम्पनी के साथ लगती रौड़ी सड़क पर एक कंस्ट्रक्शन कम्पनी के प्रति अपना  रोष जताया। मजदूर डब्लूएचआरएस प्रोजेक्ट में बिजली तैयार करने के प्रोजेक्ट में पिछले दो वर्ष से कार्य कर रहे थे। लेकिन  अंबुजा सीमेंट कम्पनी ने अनिश्चितकाल के लिए प्लांट को बंद कर दिया । जिससे डब्लूएचआरएस प्रोजेक्ट में कार्य कर रहे लगभग 200 बाहरी राज्यों के कामगारों को सैलरी न मिलने से नाराज चले हुए है। मजदूरों का कहना है कि नवम्बर व दिसम्बर माह की ठेकेदार द्वारा उन्हें सैलरी नही दी गई है। उन्होंने कहा कि बिना पैसे के भूखे पेट रहने की नोबत आ गयी है। उनका कहना है कि पैसों के बिना राशन,सब्जी व अन्य जरूरी वस्तुओं को लेने में भी परेशानी हो रही है क्योंकि इन सभी के लिए पैसे की जरूरत होती है। और साथ ही हम सबके पास किराए को देने के लिए भी पैसे नही है। मजदूरों ने कहना कि जब हम अपनी मेहनत की मजदूरी के पैसे मांगते हैं तो ये टाल मटोल करते रहते है। अगर इनसे पैसो के लिए जबरदस्ती करें तो हमारे को धमकी देते है कि पुलिस को बुलाकर लाठी चार्ज करवा देंगें। उन्होंने कहा कि वे सभी अलग अलग राज्यों से यहां पैसा कमाने के लिए आए है,पर समय से सैलरी नही मिलेगी तो खाएंगे क्या। मजदूरों ने कहा कि ठेकेदार कह रहा है कि अंबुजा कम्पनी से अभी पैसा नही आया है जिसके चलते सैलरी में देरी से आएगी। मजदूरों ने  कहा कि सभी मजदूर निजी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के तहत कार्य कर रहे थे। उन्हें यह नही मालूम कि पैसा कौन देगा। मजदूरों ने एक स्वर में कहा कि उन्होंने कंस्ट्रक्शन कम्पनी में काम किया है और पैसा भी उनसे ही चाहिए। मजदूरों ने कम्पनी प्रबंधन व कंस्ट्रक्शन कम्पनी के अधिकारीयों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर  उनकी मेहनत की मजदूरी उन्हें नही दी गयी तो हमें मजबूरन उग्र आंदोलन करना पड़ेगा जिसकी जिम्मेवारी कम्पनी प्रबंधन व प्रशासन की होगी।

उधर निजी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के इंचार्ज डीएस मान का कहा कि हमें अभी तक कम्पनी से पेमेंट नहीं आई है, कम्पनी ने कहा है कि लेबर की पेमेंट हम स्वयं अदा करेंगे उसके लिए लेबर का सारा हिसाब किताब जो बनता था तो आज ही दे दिया जाएगा। और अब कम्पनी स्वयं उनकी पेमेंट करेगी।

दाड़लाघाट में श्रमिकों को सैलरी न मिलने पर रोष रैली करते हुए।
दाड़लाघाट में श्रमिकों को सैलरी न मिलने पर रोष रैली करते हुए।

Leave a Reply