21/05/2024 1:48 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

अवस्थी ने की ऑपरेटर्स के साथ बात जल्द मामला सुलझाने का दिया आश्वासन

[adsforwp id="60"]

अर्की आजतक (ब्यूरो)

दाड़लाघाट

माल ढुलाई के विवाद को हल करने के लिए दाड़लाघाट के ट्रांसपोर्टरों ने शनिवार देर शाम वन विश्राम गृह दाड़लाघाट में अर्की के विधायक संजय अवस्थी से मुलाकात कर उन्हें अपनी हालतों व अपनी परेशानी के बारे में अवगत करवाया।विधायक संजय अवस्थी के साथ ट्रक ऑपरेटरों की यह बैठक करीब 2 घंटे तक चली।उल्लेखनीय है कि दाड़लाघाट के अंबुजा सीमेंट प्लांट में तालाबंदी हुए 19 दिन पूरे हो गए।ऑपरेटरों के अलावा गाड़ी चालक,होटल-ढाबे,टायर पंक्चर,पेट्रोल पंप और रिपेयर,स्पेयर पार्ट्स सहित अन्य कारोबार से जुड़े लोगों की रोजी का संकट के बाद रोजगार प्रभावित हो रहा है,जिससे की बेहद ही निराशाजनक स्थिति उत्पन्न हो चुकी है।ट्रक ऑपरेटरों ने विधायक संजय अवस्थी से बातचीत कर इस मसले को जल्द से जल्द सुलझाने की गुहार लगाई।विधायक संजय अवस्थी ने सभी को भरोसा दिलाया कि अपने लोगों के हितों की रक्षा प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इस विवाद को हल करने के लिए सरकार पूरी तरह से गंभीर है।उन्होंने कहा कि किसी को भी घबराने की जरूरत नही है।प्रदेश सरकार जनता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।उन्होंने कहा कि सरकार उद्योगपतियों के हाथों बिकने वाली सरकार नही है,ये जनता का साथ देने वाली सरकार है।अवस्थी ने पूरे मामले पर कहा कि सरकार का दृष्टिकोण स्पष्ट है कि सरकार कभी भी इस तरह का विवाद नही चाहती है।प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रशासन व उद्योग प्रबंधन को निर्देश दिए है कि जल्द से जल्द इस विवाद को सुलझाया जाए व ट्रांसपोर्टरों के जो हक है उनसे उन्हें वंचित न किया जाए।उन्होंने कहा कि ट्रक ऑपरेटरों में चल रहे सभी मामलों का हल करवाएंगे।हर सूरत में ट्रक ऑपरेटरों को उनके हक दिलाएंगे।इस दिशा में गंभीरता व बचनवद्धता बरकरार है।अवस्थी ने कहा कि ट्रांसपोर्टरों की मैनेजमेंट द्वारा और अदानी कंपनी के बीच किराये निर्धारित करने के निर्णय को प्रशासन द्वारा देखा जा रहा है।अवस्थी ने कहा कि इस पूरे मामले की व्यक्तिगत जानकारी मुझे है और प्रशानिक स्तर पर जो भी कार्यवाही चली है उसकी अपडेट ले रहा हूं।उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टरों के हितों की रक्षा के लिए प्रदेश सरकार पूर्णतया प्रतिबद्ध है।
जिसके लिए प्रशासनिक स्तर पर पहले ही मुख्यमंत्री द्वारा आदेश दिए जा चुके है।उन्होने कहा कि जल्द ही प्रदेश सरकार इस मुद्दे पर कड़ा संज्ञान भी लेने वाली है।उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से ओवरलोड ट्रक सीमेंट लेकर आ रहे इस बारे जानकारी मिली।इसको लेकर प्रशासन व पुलिस से पूछताछ कर कार्यवाही भी की जाएगी।उन्होंने अंबुजा में कार्यरत कर्मचारियों के तबादलों व कर्मचारियों के निलंबन को लेकर भी उद्योग द्वारा किये गए कार्यवाही की कड़ी निंदा व विरोध करते हुए कहा कि इस तरह के रवैया व शोषण को बिल्कुल भी बर्दाश्त नही किया जाएगा।उन्होंने कहा कि ट्रक ऑपरेटरों के अधिकारों की सुरक्षा करना सरकार व मेरा प्रथम दायित्व है कि किसी भी तरह का कोई नुकसान होने नहीं दिया जाएगा।उन्होंने उद्योग द्वारा की जा रही मनमानी पर रोक लगाने का प्रयास भी किया जा रहा है।अवस्थी ने कहा है कि ट्रक ऑपरेटरों के फार्मलू के आधार पर कार्य किया जा रहा है ओर 1992 के समझौते अनुसार ही कार्य चल रहा है।उन्होंने कहा कि कंपनी ने सिर्फ शेयर खरीदें है मगर लोगों के हितों को नहीं खरीदा है प्रदेश सरकार जनता की सरकार है और उनके हितों की रक्षा करना हमारा प्रथम दायित्व है।अवस्थी ने सभी ट्रांसपोर्टरों को एकजुट रहने को कहा है और पूर्ण आश्वाशन दिया है की प्रदेश सरकार स्थानीय ट्रांसपोर्टरों के साथ खड़ी है।उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से गठित कमेटी 2 जनवरी सोमवार को ट्रक ऑपरेटर सभाओं ओर यूनियन उद्योगपति संघो ओर अदानी समूह प्रबंधन के साथ बैठक करेगी।विधायक संजय अवस्थी ने ट्रक ऑपरेटरों को इस मुद्दे को शीघ्र सुलझाने का आश्वासन दिया।इस अवसर पर प्रधान एसडीटीओ जयदेव कौडल,कोषाध्यक्ष राम कृष्ण बंसल,डायरेक्टर रमेश ठाकुर,ऋषि देव,नरेश,एडीकेएम ट्रांसपोर्ट सोसाइटी से बालक राम शर्मा,अरुण शुक्ला,कमल कांत चंदेल,कुलदीप चंदेल बाघल लैंड लूजर ट्रांसपोर्ट सोसाइटी से जगदीश ठाकुर मांगल ट्रांसपोर्ट कोऑपरेटिव सोसायटी से मनोहर ठाकुर,बलदेव ठाकुर,राजेश गुप्ता,हेमंत वर्मा मौजूद रहे।

Leave a Reply