17/06/2024 4:47 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

12 तारीख का इंतजार हुआ बेकार

[adsforwp id="60"]

अर्की आजतक (ब्यूरो)

दाड़लाघाट

ट्रक आपरेटर्स का 12 जनवरी का इंतजार भी समाप्त हुआ।आपरेटर्स को उम्मीद थी कि 12 जनवरी कोई खुशखबरी लेकर आएगा लेकिन स्थिति जस की तस रही।और ट्रक ऑपरेटरों का प्रदर्शन 31वें दिन भी जारी रहा।आक्रोशित ऑपरेटरों ने हर रोज की तरह अंबुजा कंपनी गेट से लेकर बस स्टैंड से होते हुए अंबुजा चौक तक आक्रोश रैली निकाली।ऑपरेटरों ने सैकड़ों की संख्या में एकत्र होकर अंबुजा चौक में लगभग दो घंटों तक धरना प्रदर्शन किया और अदानी समूह के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।अब ट्रक ऑपरेटरों को उम्मीद है कि इसी हफ्ते सकारात्मक परिणाम आ जाएंगे।तब तक ट्रक ऑपरेटर शांतिप्रिय ढंग से रोजाना की तरह प्रदर्शन करते रहेंगे।एसडीटीओ के निदेशक नीलम भारद्वाज व एडीकेएम के सदस्य राकेश गौतम ने कहा कि अदानी की मनमानी से ऑपरेटरों के परिवार का भरण पोषण करना व उनकी पीड़ा असहनीय हो गई है।उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्लांट को जल्द से जल्द शुरू किया जाए।एसडीटीओ के कोषाध्यक्ष राम कृष्ण बंसल व एडीकेएम के सदस्य अरुण शुक्ला ने वीरवार को शिमला में आयोजित बैठक में वास्तविक स्थिति को शुक्रवार को दाड़लाघाट में प्रदर्शन के दौरान सभी ट्रक ऑपरेटरों के समक्ष रखा।उन्होंने कहा कि शिमला में आयोजित बैठक में 4 से पांच मसलों पर बात नही बन पाई।उन्होंने कहा कि तेल का खर्च व टायर की घिसाई,बीमा सहित कुछ बिंदुओं के किराए निर्धारण को लेकर कोर कमेटी में सहमति नहीं बन पाई।उन्होंने कहा कि कोर कमेटी के सदस्यों ने इन मसलों पर अपने प्रस्ताव उपसमिति को सौंप दिए हैं।उन्होंने कहा कि इस मसले पर प्रदेश सरकार ने भी हमारी बात को ध्यानपूर्वक सुनकर जल्द मामला सुलझाने की बात कही।उन्होंने कहा कि ऑपरेटरों को पूरा समर्थन प्रदेश सरकार का मिल रहा है,आशा है कि सरकार उनकी समस्याओं को देखते हुए जल्दी ही इस मसले का शीघ्र ऑपरेटरों के पक्ष में हल निकालेगी।

Leave a Reply