28/05/2024 2:43 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

गुस्साए ट्रक ऑपरेटरों ने थाने में जाकर दी सामूहिक गिरफ्तारियां ।

[adsforwp id="60"]

अर्की आजतक (ब्यूरो)

दाड़लाघाट:-बुधवार को दाड़लाघाट में ऑपरेटरों का सब्र जबाव दे गया।ऑपरेटरों ने बस अड्डे पर आधा घण्टा सांकेतिक चक्का जाम किया।इस दौरान हाईवे पर गाड़ियों की आवाजाही बाधित हो गयी।हालाकिं जाम खुलवाने के लिए पुलिस ने खूब मशक्कत की।गुस्साए ट्रक ऑपरेटरों ने थाने में जाकर गिरफ्तारियां दी।इस दौरान संघर्ष समिति के 40 सदस्यों ने सामूहिक गिरफ्तारी दी।बाघल लैंड लूजर के पूर्व प्रधान राम कृष्ण शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार तारिक पे तारिक दे रही है,जिस पर ट्रक ऑपरेटरों में भारी रोष पनप रहा है।सरकार ट्रक ऑपरेटरों के इस मुद्दे को गम्भीरता से नही ले रही है।उन्होंने कहा कि आज तो सिर्फ 40 लोगों ने ही अपनी गिरफ्तारी दी है,हमारी योजना 100 दिन की है जिसमें रोजाना गिरफ्तारियां दी जाएगी,जब तक इस मुद्दे का कोई स्थाई समाधान नही होता है।शर्मा ने अडानी,केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार को चेताते हुए कहा कि ऑपरेटर पचास दिनों के भीतर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे है,जब भी आप यहां आओगे तो हमें सड़कों पर ही पाओगे।एडीकेएम के पूर्व प्रधान बालक राम शर्मा ने कहा के 4 फरवरी को सुबह 11 से 1 बजे तक दो घण्टे पूरे प्रदेश में ट्रांसपोर्टर चक्का जाम करेंगे।इसके अलावा शालाघाट,दाड़लाघाट व भराड़ीघाट की सीमाओं पर उनके लोग चक्का जाम करेंगे।उन्होंने कहा कि 11 फरवरी को महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत भी शामिल होंगे।पूरे प्रदेश व ऊपरी इलाकों के किसानों बागवानों को भी इस महापंचायत में आमंत्रित किया जाएगा।इस दौरान पूर्व विधायक गोविंद राम शर्मा भी ऑपरेटरों के समर्थन में दाड़लाघाट पहुचे थे।उन्होंने कहा कि ट्रक ऑपरेटर 50 दिनों से धरना प्रदर्शन कर रहे है।प्रदेश सरकार इस मुद्दे को सुलझाने में विफल साबित हुई है ये मुद्दा रानीतिक नही है,बल्कि स्थानीय लोगों की रोजी रोटी से जुड़ा है इसपर राजनीति नही होनी चाहिए।उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की की जल्द इस मुद्दे को सुलझाया जाये ताकि स्थानीय लोगों के नकों की रक्षा हो सके और उनकी आजीविक चलती रहे।ऑपरेटरों में हरीश भारद्वाज और खेम राज ठाकुर ने कहा कि उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से अपना धरना प्रदर्शन कर रहे है अब पानी सिर से ऊपर चला गया है उन्हें मजबूरन अपना आंदोलन उग्र करना पड़ेगा।

Leave a Reply