14/06/2024 4:42 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

बेरोजगारों को सीमेंट कंपनी की मनमानी के कारण होना पड़ रहा मानसिक परेशानी का शिकार। आशीष गुप्ता।

[adsforwp id="60"]

अर्की आज तक

दाड़लाघाट, 2 जून (ब्यूरो):

अम्बुजा सीमेंट कम्पनी दाड़ला में बेरोजगारों के साथ भद्दा मजाक कर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। जिस वजह से स्थानीय बेरोजगारों को कंपनी के मनमाने रवैया के कारण मानसिक परेशानी का शिकार होना पड़ रहा है। ऐसा ही एक वाक्य दाड़ला पंचायत के प्रार्थी आशीष गुप्ता के साथ घटित हुआ है गत दिनों पहले अंबुजा प्लांट के अस्तपाल में फार्मासिस्ट के रिक्त पद के लिए आवेदन मांगे गए थे जिसके लिए संक्षिप्त विवरण इंटरनेट मीडिया के माध्यम से प्रेषित किया गया,इसके उपरांत सीमेंट कंपनी के डॉक्टर ने साक्षात्कार के लिए कॉल की और आशीष ने मौके पर जाकर साक्षात्कार दिया।इसके बाद सीमेंट कंपनी परिसर से समय-समय पर डॉक्टर व सीमेंट कंपनी परिसर के अधिकारियों से बातचीत होती रही और वेतन की बात होने के बाद सारी बातें तय हुईं। इसके उपरांत 26 मई को कंपनी के डॉक्टर ने दुबारा मेडिकल व अन्य जरूरी औपचारिक दस्तावेज के लिए कंपनी के अस्तपाल में बुलाया गया। इसी दिन यहां पर डॉक्टर ने उच्च अधिकारियों से बातचीत करने के बाद दुबारा 31 मई को कंपनी परिसर में बुलाया जहाँ से अस्तपाल के अधिकृत व्हाट्सएप समूह में भी जोड़ दिया और डॉक्टर द्वारा 1 जून से ड्यूटी ज्वाइन करने को कहा गया। प्रार्थी आशीष गुप्ता का कहना है कि मेरे साथ एक और व्यक्ति को बुलाया गया। दोनों को जैसे जैसे डॉक्टर द्वारा कहा गया वे उसे करते गए। उन्होंने 1 जून को सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक पूरा दिन सामान्य ड्यूटी की और उन्हें दोपहर समय के बाद कहा गया कि अब आप दोनों का दुबारा फाइनल इंटरव्यू होगा जिसके बाद आज दो जून को इंटरव्यू होने के बाद अयोग्य घोषित कर घर जाने का फरमान जारी कर दिया गया।प्रार्थी आशीष गुप्ता ने कहा कि सीमेंट प्लांट में नौकरी के नाम पर युवाओं को छला जा रहा है। उनका कहना है कि पहले योग्य घोषित करके रोजगार दिया जाता है फिर किसी चहते का साक्षात्कार किया जाता है और अयोग्य घोषित कर दुत्कार दिया जाता है। उन्होंने कहा कि इस सीमेंट  कम्पनी की मनमानी से बेरोजगारों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है जो कि बहुत ही दुःखद वो निंदनीय है।

Leave a Reply