21/05/2024 12:10 am

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

सी एंड विअध्यापक संघ विधायक बड़सर इंद्रपाल दत्त की अध्यक्षता में प्रदेश के नायक मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुखु व शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर से मिला।

[adsforwp id="60"]

अर्की आज तक

कुनिहार/अक्षरेश शर्मा

राजकीय सी एंड वी अध्यापक संघ हिमाचल प्रदेश का एक प्रतिनिधि मंडल पिछले कल शनिवार को इंद्रपाल दत्त लखनपाल विधायक बड़सर हमीरपुर की अध्यक्षता में माननीय मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश व शिक्षा मंत्री हिमाचल प्रदेश से विधानसभा में मिला।संघ के पदाधिकारियों ने माननीय मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को अवगत करवाया कि हाल ही में प्रधान शिक्षा सचिव कार्यालय से जो अधिसूचना जारी की है जिसके अंतर्गत प्रदेश के ऐसे सभी माध्यमिक विद्यालय जिन में नामांकित छात्र छात्राओं की संख्या 100 से कम कम है उनसे शारीरिक शिक्षक व कला अध्यापकों का युक्तिकरण किये जाने के आदेश पारित किए गए हैं किसी भी सूरत में न्याय संगत नही है।संघ के पदाधिकारियों ने आग्रह किया कि हिमाचल प्रदेश एक पहाड़ी प्रदेश है और यहां की भौगौलिक परिस्थिति देश के अन्य राज्यों से सर्वथा भिन्न है।ऐसे में यहां किसी भी माध्यमिक विद्यालय में 100 का आंकड़ा छूना असम्भव है उन्होंने कहा कि यदि नई शिक्षा नीति में ऐसा कोई प्रावधान किया भी गया है तो हिमाचल प्रदेश सरकार अपनी शक्तियों से इसमें विशेष छूट का प्रावधान करे अन्यथा इन विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र इन विषयों के सम्यक ज्ञान से वंचित रह जाएंगे।उन्होंने कहा कि विषय की जानकारी होना और विषय विशेषज्ञ होना दो अलग अलग बातें हैं जिस रुचि से विषय विशेषज्ञ बच्चों को विषय का सम्यक ज्ञान देगा वैसा विषय का ज्ञाता नही दे पाएगा।दूसरे खेलेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इण्डिया जैसी सरकार की महत्व पूर्ण योजना भी ऐसी स्थिति में मात्र कोरी कल्पना होगी।माननीय मुख्यमंत्री व माननीय शिक्षा मंत्री ने संघ की पूरी बात को गम्भीरता से सुना और तुरन्त इस पर कार्रवाई करते हुए शिक्षा निदेशक प्रारम्भिक को इन आदेशों को अगले आदेशों तक स्थगित रखने के आदेश दिए साथ ही सोमवार को इस गम्भीर विषय पर शिक्षा निदेशक व सम्बंधित सभी अधिकारियों व संघ के कुछ पदाधिकारियों को को विस्तृत चर्चा परिचर्चा हेतु अपने विधानसभा कार्यालय में आने के आदेश भी जारी किए।संघ के पदाधिकारियों ने इस पुनीत व छात्र हित निर्णय के पर त्वरित कार्रवाई करने के लिए माननीय मुख्यमंत्री व माननीय शिक्षा मंत्री जी का आभार प्रकट किया साथ ही इंद्र दत्त लखनपाल जी को भी कोटि कोटि साधुवाद दिया जिनके अथक प्रयासों से संघ अपनी इस ज्वलन्त मांग को मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री जी के सामने सशक्त रूप में रख सका।मुख्यमंत्री से मिलने के लिए राज्य प्रधान दुर्गानन्द शास्त्री सहित प्रदेश के सभी जिला से काफी संख्या में अध्यापक शिमला पहुंचे थे।

Leave a Reply

Advertisement