20/06/2024 8:32 pm

अर्की आज तक 3
Search
Close this search box.

दाड़लाघाट शिव मंदिर में हुआ अंबुजा दाड़ला कश्लोग मांगू परिवहन एडीकेएम सभा दाड़लाघाट का वार्षिक अधिवेशन

[adsforwp id="60"]

अर्की आजतक

दाड़लाघाट

अंबुजा दाड़ला कश्लोग मांगू परिवहन एडीकेएम सभा दाड़लाघाट का वार्षिक अधिवेशन शिव मंदिर दाड़लाघाट में आयोजित किया गया। वार्षिक अधिवेशन की अध्यक्षता सभा प्रधान वेदप्रकाश शुक्ला ने की।इस मौके पर अधिवेशन में 200 से अधिक सदस्यों ने भाग लिया। अधिवेशन को संबोधित करते हुए सभा के प्रधान वेद प्रकाश शुक्ला ने आपसी मतभेद भुलाकर सभा के सुदृढ़ीकरण और इसे अधिक संगठित करने पर जोर दिया,ताकि ट्रक ऑपरेटरों के हितों को सुरक्षित रखा जा सके। उन्होंने कहा कि एडीकेएम परिवहन सबसे पुरानी सभा है जिसका गठन 1992 में किया गया। जिसके लिए अंबुजा,दाड़ला,कशलोग और मांगू के लोगों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने दुःख व्यक्त किया कि हमारी सभा के लोगों ने क्षेत्रवाद और राजनीतिक मुद्दों को हवा देकर इसे कमजोर करने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि अंबुजा सीमेंट प्रबंधन द्वारा जिस प्रकार धक्काशाही और तानाशाहीपूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है उससे ट्रक ऑपरेटरों का भारी नुकसान हो रहा है और भविष्य में इसके परिणाम भयावह होंगे। वेद शुक्ला ने सभा पूर्व की पूर्व कार्यकारिणी को परामर्श दिया कि वे अनावश्यक मुकद्दमेबाजी के चक्कर में न पड़कर सभा की मजबूती और ट्रक ऑपरेटरों के कल्याण के लिए मिलजुल काम करने को प्राथमिकता दें। उन्होंने कहा कि उन्हें किसी भी पदाधिकारी से कोई गिला नहीं है और वह सभा के लाभ और ऑपरेटरों के कल्याण के लिए पुराने मतभेद भुलाकर माफी मांगने को तैयार हैं। अधिवेशन को पूर्व प्रधान बालक राम शर्मा ने भी संबोधित किया। यद्यपि कई मामलों को लेकर दोनों के बीच कहासुनी भी हुईं लेकिन पदाधिकारियों के बीच बचाव से मामला शांत हुआ। इसके इलावा वार्षिक अधिवेशन में दाड़लाघाट, सभा प्रधान वेदप्रकाश शुक्ला ने बताया कि सभा मे कई एजेंडे रहे। जिनमे कंपनी द्वारा 9 गाड़िया को खड़ा करना उसके बारे में सभा सदस्यों को अवगत करवाया गया कि कंपनी द्वारा बिना वजह गाड़ियां खड़ी की जिसके लिए सभा को न्यायालय में जाना पड़ा। न्यायालय के फैसले के बाद गाड़ियां को चलाने के आदेश हुए। शुक्ला ने बताया कि सभा में नए सदस्यों व सह सदस्यों का अनुमोदन रहा। उन्होंने बताया कि 21 वार्ड से 11 वार्ड करने बारे,चुनाव की प्रक्रिया को शुरू करने पर भी चर्चा की गई। इन प्रस्तावों को सभी सदस्यों द्वारा सर्वसम्मति से पारित किया। उन्होंने बताया कि पहले सभा में 21 वार्ड थे जिन्हें 11 वार्ड बनाए जाने पर चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि उच्च न्यायालय में सीडब्ल्यूपी 8829 के फैसला आने के तुरंत बाद चुनाव की प्रक्रिया को भी पूरा किया जाएगा। शुक्ला ने बताया कि सभा के भवन निर्माण के लिए एक हाउस कमेटी तैयार की गई जिसमें नामित कमेटी व पांच सदस्यो को शामिल कर 15 दिन के अंदर भवन का निर्माण कार्य शुरू करने का फैसला लिया गया। इस मौके पर उपप्रधान जय सिंह ठाकुर,कोषाध्यक्ष तिलक गौतम,कार्यकारणी सदस्य लाला शुक्ला,विद्यासागर ठाकुर,पवन ठाकुर,अरुण शुक्ला,कमलकांत चंदेल,अनिल गुप्ता,बंटू शुक्ला,श्याम चौधरी,राकेश गौतम,नरेश कुमार,हेमराज ठाकुर,लेखराम ठाकुर,संत राम पंवर सहित अन्य मौजूद रहे।

Leave a Reply